learn food photography professionals India

कितनी बार ऐसा हुआ होगा कि स्क्रॉल करते करते आपने किसी नए फ़ूड जॉइंट की तस्वीर देखी हो और कोई मज़ेदार और लज्ज़तदार खाने की तस्वीर देख कर आपके मुंह में पानी आ गया हो। हुआ हैं न ऐसा ! यूटयूब में कई फ़ूड चैनल्स पर भले ही बन कोई साधारण सी डिश रही हो पर जिस तरह उसे दिखाया जाता है, उसके क्या ही कहने। तो जनाब ये कमाल है फ़ूड फोटोग्राफी का। एक ऐसी कला जिसमें होती है स्टिल लाइफ जेनर फोटोग्राफी जहां विज्ञापन, कुक बुक्स या मैगज़ीन के लिए कलात्मक तरीके से फोटोग्राफ लिए जाते हैं।

तो इस तरह की फोटोग्राफी यकीनन काफी रोमांचक होती है। वैसे तो ज़्यादातर फ़ूड फोटोग्राफर्स पहले से ही सीखे हुए होते हैं और फोटोग्राफी के क्षेत्र में रूचि रखते हैं। चूँकि ऐसे में फोटोग्राफर्स कुछ मूल कॉन्सेप्ट्स जैसे लाइटिंग, टूल्स और अम्बिएंस से वाकिफ़ हो चुके होते हैं तो अब इस स्थिति में प्रोडक्ट्स के साथ प्रयोग करना आसान हो जाता है। अधिकतर फ़ूड फोटोग्राफर्स, होटल्स , रेस्तरां , खानसामों, प्रकाशनों या कई प्रमोशनल ऑफर्स के लिए कॉन्ट्रैक्ट या फ्रीलांसर के तौर पर काम करते हैं । तो इस रोचक करियर को आप भी चुन सकते हो बशर्ते कुछ ऐसी टिप्स ध्यान में रखी जाएँ जो आपकी राह आसान कर सकती है। इस लेख में जानिये क्या हैं वो।

10 टिप्स जो बनाये आपको परफेक्ट फ़ूड फोटोग्राफर !

किसी भी तरह की फोटोग्राफी में आपको कुछ ख़ास बातों जैसे लाइटिंग, बैक ड्राप, शैडो, एंगल्स का अध्ययन, पिक्चर फ्रेमिंग और सबसे ज़रूरी आपकी रूचि को ध्यान में रखना पड़ता है। फोटोग्राफी में आपका पैशन और तकनीक की नॉलेज आपको सफलता की ओर ले जाती है।

ट्राईपौड का उपयोग

सबसे अच्छा सपोर्ट और क्लिक की हुई तस्वीर में स्पष्टता के लिए सबसे महत्वपूर्ण रोल ट्राईपौड का होता है क्यूंकि इसी से कैमरा स्थिर रहता है। इसके अलावा बढ़ी हुई उंचाई की वजह से आप अपने अरेंजमेंट में लेयर और लेवल जोड़ सकते हो और इससे मिलता है एक आकर्षक विज़ुअल या दृश्य।

अच्छे लेंस का चयन 

फोटोग्राफी यूं तो निर्भर करती है फोटोग्राफर की नज़र और सोच पर, फिर भी एक सही लेंस का चयन आपकी तस्वीर पर काफी बड़ा असर छोड़ सकता है। जैसे मान लीजिये 90mm के मैक्रो लेंस के उपयोग से बैकग्राउंड में कंप्रेस्ड लुक मिलता है और इससे ऑब्जेक्ट पर फोकस बढ़ता है जैसे किसी भी खाने की तस्वीर।  

प्रॉप्स में निवेश 

किसी भी शूट में प्रॉप्स, महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और जब बात फ़ूड फोटोग्राफी की हो तो प्रॉप्स खाने में पूरक का काम करते हैं । फ़र्ज़ करिए एक पिज़्ज़ा जो कुछ ताज़े हरे पत्तों के साथ लकड़ी की ट्रे में रखा हो, क्या आप नहीं चाहेंगे उसे खाना ? तो ये कहलायेंगे प्रॉप्स जो हर शॉट में डिटेल डाल देते हैं। सिरेमिक की क्रॉकरी खूबसूरत फिगर्स किसी भी फ़ूड फोटोग्राफर के लिए हैं बड़े काम की चीज़। 

केन्द्रित हों सब्जेक्ट की प्लेसमेंट पर 

आपके सब्जेक्ट या विषय का प्लेसमेंट कुछ इस तरह होना चाहिए जिससे देखने वालों का ध्यान फ़ूड आइटम पर टिक जाए। जिसके लिए आपका सब्जेक्ट फोर ग्राउंड में स्थित होना चाहिए । इमेज के फ्रेम को इस तरह एडजस्ट करना जिससे ज्यादा प्रभाव पड़े ये भी राय दी जाती है। एक और ज़रूरी बात ये है कि कभी भी कोई भी तस्वीर खाने के बहुत पास से नहीं ली जानी चाहिए क्यूंकि पूरी तस्वीर का हमेशा ही ज्यादा प्रभाव रहता है बनिस्बत इसके कि शॉट कार्नर या क्लोज अप शॉट लिया जाए । 

एंगल्स से प्रयोग 

फ़ूड फोटोग्राफ अधिकतर या तो ऊपर, सामने या किसी विशिष्ट एंगल से ली जाती हैं । हालांकि लाइट और शैडो के आधार पर एंगल्स को बदला भी जा सकता है जिससे अलग अलग मूड और सेटिंग्स खोजी जा सकें । एंगल तय करने से समय भी बचता है और बदलाव के मौके भी कम होते हैं जब एक बार सब कुछ तय हो जाता है। 

शुरुआत करने से पहले शूट कैसे करना है ये ज़रूर सोचें 

रचनात्मकता से जुड़े रहने के लिए कुछ भी शुरू करने से पहले शूट को ज़रूर सोचें । तैयारी कैसी होनी चाहिए , किस तरह के प्रॉप्स होंगे खाना कैसे रखा जाएगा और कौन कौन से एंगल से शूट होगा इन सब का ख्याल आपकी तैयारी को और मज़बूत करेगा । इससे आप डिटेल्स और प्रॉप्स पर ज्यादा ध्यान लगा पाओगे और पूरी प्रक्रिया काफी आसान हो जाएगी। 

चीज़ें सादगी भरी रखें 

ऐसा आपने कहीं न कहीं कितनी ही बार सुना होगा कम हमेशा ज्यादा ही होता है। ये रूल यहाँ भी चलता है , फ़ूड फोटोग्राफी में चीज़ें आसान, कम और सादीभरी हों, तो  खाने की तसवीरें और सजीव बन जाती हैं। जितने अवयव आप तस्वीर में जोड़ोगे तस्वीर उतनी ही भरी भरी लगेगी,  नतीजन आपके ऑब्जेक्ट का फोकस खो जाएगा। तो सोचिये कि कैसे कौन सी चीज़ को ज्यादा हाईलाइट किया जाए और बाकी की साइड की चीजों को बहुत ही सादगी से अरेंज किया जाए, देखिये कैसे आपकी तस्वीर की रौनक बढ़ेगी।  

पोर्टफोलियो तैयार करें 

एक अच्छा पोर्टफोलियो एक अच्छा रिज्यूम तैयार करता है। और आपको एक अच्छे फ़ूड फोटोग्राफर के रूप में स्थापित करता है। आपकी विशिष्टता, आपकी रूचि आपका स्टाइल ये सब कुछ आपके पोर्टफोलियो से तय होता है तो एक अच्छे फ़ूड फोटोग्राफर तो आप हैं पर अब दुनिया को दिखाइये अपनी स्किल्स एक अच्छे पोर्टफोलियो के साथ ।

प्रेक्टिस बनाएं आपको परफेक्ट ! 

सिर्फ प्रोजेक्ट पर काम करते हुए तस्वीरें न खींचे , बनाएं उसे अपनी रेगुलर प्रेक्टिस। और एक्सपर्ट्स को देखें , अनुभव लें और फिर अपने खुद के आइडियाज के साथ उसे अपने प्रोजेक्ट्स में प्रयोग करें। 

यकीनन जब आप ये टिप्स फॉलो करते हैं तो आपको फायदा ज़रूर दिखेगा। एक अच्छे फ़ूड फोटोग्राफर के तौर पर  आप स्थापित भी होगे और आपकी डिमांड भी बढ़ेगी। मगर डिमांड बढाने के लिए ये भी तो ज़रूरी है कि एक अच्छा ऑनलाइन कोर्स चुना जाए जो आपको इस क्षेत्र की पूरी नॉलेज दे, तो अब ये भी आसान है छलांग के साथ। एक ऐसा अनुभव जो आपको इस विषय का पूरा ज्ञान देता है प्रोफेशनल मेंटर की ट्रेनिंग द्वारा। तो सोचना कैसा ? क्लिक करें सही स्किल्स सीख कर और नाम कमाएं अपने पैशन से !